Sunday, November 7, 2010

वक़्त.....

सुलझा के वक़्त जो सोया सुकून से.....
वो आये हैं उलझी लटों में कब्र में फातहा पढने

2 comments: